You are here

कॉल सेंटर और बीपीओ को लेकर 10 महत्वपूर्ण बिंदु:-

1 बीपीओ का पूरा नाम बिजनेस प्रोसेस आउटसोर्सिंग है।

2 जब कोई कंपनी अपने अतिरिक्त कार्य को करने के लिए किसी दूसरे कंपनी को हायर करती है तो इसे बीपीओ के नाम से जाना जाता है।

3 कॉल सेंटर बीपीओ कंपनी का ही एक हिस्सा होता है।

4 बीपीओ एक व्यापक प्रणाली है जिसमें कंपनी कई तरह के सर्विस प्रोवाइड करते हैं जिनमें कस्टमर सपोर्ट, सेल्स एंड मार्केटिंग, डाटा एंट्री आदि कई काम होते हैं। कॉल सेंटर में बस कॉल उठाने तथा कॉल करने का काम किया जाता है।

5 बीपीओ ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों में काम करता है जबकि कॉल सेंटर एक ऑफलाइन काम हैं जिसमें कॉल उठाना तथा कॉल करना होता है।

6 बीपीओ का उद्देश्य अपने व्यवसाय के उत्पादकता को बढ़ाना होता है। वही कॉल सेंटर का उद्देश्य होता है ग्राहक की मदद करना तथा ग्राहक के बीच अपने उत्पाद का प्रचार प्रसार।

7 बीपीओ में कई डिपार्टमेंट होते हैं जिसमें आईटी, फाइनेंस, बिलिंग आदि शामिल है जबकि कॉल सेंटर में सिर्फ कॉलिंग डिपार्टमेंट होता है।

8 बीपीओ के लिए कॉल सेंटर के मुकाबले अधिक स्किल्स की जरूरत होती है।

9 यदि आप कॉल सेंटर और बीपीओ में कार्य करने के इच्छुक हैं तो सबसे बड़ी बात आपको अपनी इंग्लिश में सुधार करना होगा।

10 कॉल सेंटर दो तरह के होते हैं एक होते हैं इनबॉउंड कॉल सेंटर तथा दूसरे होते हैं आउट बाउंड कॉल सेंटर। इन बाउंड कॉल सेंटर में ग्राहक जानकारी या शिकायत दर्ज कराने के लिए संपर्क करता है जबकि आउट बाउंड में कॉल सेंटर अपने प्रोडक्ट या सर्विस के बारे में लोगों को जानकारी देने के लिए स्वयं ग्राहकों को कॉल करते हैं।

पूरा आर्टिकल पढ़ने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें - बीपीओ और कॉल सेंटर में अंतर